सरकारी योजनाएँ

क्या है सुकन्या समृद्धि योजना, कैसे खुलवाएं खाता?

बेटी के उज्जवल भविष्य के लिए बेहतर है सुकन्या समृद्धि योजना , Sukanya Samriddhi Yojna में अकाउंट सिर्फ 250 रुपये से खोला जा सकता है. इससे छोटी-छोटी बचत के जरिये बच्चे की शादी या उच्च शिक्षा के लिए SSY में रकम जमा कर सकते हैं.

How to Open Sukanya Samriddhi Yojana account in hindi | sukanya samriddhi yojana form | sukanya samriddhi yojana calculator | sukanya samriddhi yojana calculator chart | sukanya samriddhi scheme details in hindi

विषय-सूची

क्या है sukanya samriddhi yojana ?

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लांच किया गया है.

साल 2016 -17 में sukanya samriddhi scheme में 9.1 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा था जो इनकम टैक्स (Income Tax) छूट के साथ है. इससे पहले इसमें 9.2 फीसदी तक ब्याज भी मिला है.

बहुत कम रकम के साथ खुलने वाला sukanya samriddhi scheme खाता दरअसल उन परिवारों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है जो छोटी-छोटी बचत के जरिये बच्चे की शादी या उच्च शिक्षा के लिए रकम जमा करना चाहते हैं.

सर्टिफाइड फाइनेंशियल प्लानर दीपाली सेन ने कहा, ‘sukanya samriddhi scheme उन लोगों के लिए बहुत अच्छी स्कीम है जिनकी आमदनी कम है और जो शेयर बाजार में पैसे लगाने में भरोसा नहीं करते. निश्चित आमदनी के साथ पूंजी की सुरक्षा इस स्कीम की खासियत है.’

कैसे खुलवाएं sukanya samriddhi scheme खाता?

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के तहत एकाउंट किसी गर्ल चाइल्ड के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र में कम से कम 250 रुपये के जमा के साथ खोला जा सकता है. चालू वित्त वर्ष में SSY के तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा कराये जा सकते हैं.

कहां खुलेगा sukanya samriddhi yojana खाता?

सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojana) के तहत एकाउंट किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खोला जा सकता है.

कब तक चलाना होगा SSY खाता?

sukanya samriddhi yojana खाता खोलने के बाद यह गर्ल चाइल्ड के 21 साल के होने या 18 साल की उम्र के बाद उसकी शादी होने तक चलाया जा सकता है.

क्या है SSY का उपयोग? 

sukanya samriddhi yojana खाते से 18 साल की उम्र के बाद बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए खर्च के मामले में 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है.

sukanya samriddhi yojana खाता खोलने के नियम

SSY खाता बच्ची के माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा गर्ल चाइल्ड के नाम से उसके 10 साल की उम्र से पहले खोला जा सकता है. इस नियम के मुताबिक एक बच्ची के लिए एक ही खाता खोला जा सकता है और उसमें पैसा जमा किया जा सकता है. एक बच्ची के लिए दो खाता नहीं खोला जा सकता.

sukanya samriddhi yojana के लिए जरूरी कागजात

SSY खाता खोलने के वक्त बच्ची का बर्थ सर्टिफिकेट पोस्ट ऑफिस या बैंक में देना जरूरी है. इसके साथ ही बच्ची और अभिभावक के पहचान और पते का प्रमाण भी देना जरूरी है.

sukanya samriddhi yojana में कितनी रकम जरूरी?

SSY एकाउंट खोलने के लिए 250 रुपये काफी हैं, लेकिन बाद में 100 रुपये के गुणक में पैसे जमा कराये जा सकते हैं. किसी एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपये जरूर जमा कराया जाना चाहिए. किसी एक वित्त वर्ष में SSY खाते में एक बार या कई बार में 1.5 लाख रुपये से अधिक जमा नहीं कराया जा सकता.

sukanya samriddhi yojana खाते में रकम खाता खोलने के दिन से 15 साल तक जमा कराया जा सकता है. 9 साल की किसी बच्ची के मामले में जब वह 24 साल की हो जाये तब तक रकम जमा कराई जा सकती है. बच्ची के 24 से 30 साल के होने तक जब SSY खाता मैच्योर हो जाये, उसमें जमा रकम पर ब्याज मिलता रहेगा.

sukanya samriddhi yojana में रकम जमा नहीं हो पाई तब?

किसी अनियमित SSY अकाउंट में जहां कम से कम रकम जमा नहीं हुई है, उसे 50 रुपये सालाना की पेनाल्टी देकर नियमित कराया जा सकता है. इसके साथ ही हर साल के लिए कम से कम जमा कराई जाने वाली रकम भी SSY अकाउंट में डालनी पड़ेगी.

अगर पेनल्टी नहीं चुकाई गयी तो sukanya samriddhi yojana खाते में जमा रकम पर पोस्ट ऑफिस के सेविंग एकाउंट के बराबर ब्याज मिलेगा जो अभी करीब चार फीसदी है. अगर SSY खाते पर ब्याज ज्यादा चुका दिया गया है तो उसे रिवाइज किया जा सकता है.

sukanya samriddhi yojana खाते में रकम जमा कैसे होगी?

SSY खाते में रकम कैश, चेक, डिमांड ड्राफ्ट या किसी ऐसे इंस्ट्रूमेंट से भी जमा कराई जा सकती है जिसे बैंक स्वीकार करता हो. इसके लिए रकम जमा करने वाले का नाम और एकाउंट होल्डर का नाम लिखना जरूरी है.

SSY खाते में रकम इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसफर मोड से भी की जा सकती है, अगर उस पोस्ट ऑफिस या बैंक में कोर बैंकिंग सिस्टम मौजूद है.

अगर sukanya samriddhi yojana खाते में रकम चेक या ड्राफ्ट से चुकाई गयी तो रकम खाते में क्लियर होने के बाद से उस पर ब्याज दिया जायेगा, जबकि ई-ट्रांसफर के मामले में डिपॉजिट के दिन से यह गणना की जाएगी.

सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर ब्याज की गणना कैसे होती है? 

SSY में अकाउंट सिर्फ 250 रुपये से खोला जा सकता है.

सरकार जी सेक यील्ड के हिसाब से हर तिमाही में सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY ) पर ब्याज दर तय करती है. सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर ब्याज दर जी-सेक रेट की तुलनात्मक मैच्योरिटी की तुलना में 75 बेसिस पॉइंट तक अधिक होता है.
इस स्कीम में अब तक दिए गए ब्याज

समय अवधि (वर्ष) दिए गए ब्याज
अप्रैल 1, 2014: 9.1%
अप्रैल 1, 2015: 9.2%
अप्रैल 1, 2016 -जून 30, 2016: 8.6%
जुलाई 1, 2016 -सितम्बर 30, 2016: 8.6%
अक्टूबर 1, 2016-दिसम्बर 31, 2016: 8.5%
जुलाई 1, 2017-दिसंबर 31, 2017 8.3%
जनवरी 1, 2018 -मार्च 31, 2018 : 8.1%
अप्रैल 1, 2018 – जून 30, 2018 : 8.1%
जुलाई 1, 2018 -सितंबर 30, 2018 : 8.1%
अक्टूबर 1, 2018 – दिसंबर 31, 2018 : 8.5%
जनवरी 1, 2019 – मार्च 31, 2019 : 8.5%

मैच्योरिटी से पहले किन हालात में सुकन्या समृद्धि योजना खाता बंद किया जा सकता है?

अगर सुकन्या समृद्धि योजना खाता धारक की मृत्यु हो जाये तो डेथ सर्टिफिकेट दिखाकर खाता बंद कराया जा सकता है. इसके बाद सुकन्या समृद्धि योजना खाते में जमा रकम बच्ची के अभिभावक को ब्याज सहित वापस दी जा सकती है.

दूसरे मामलों में सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY ) खाते को खोलने से पांच साल के बाद बंद किया जा सकता है. यह भी कई परिस्थितियों में किया जा सकता है, जैसे जीवन को खतरे वाली बीमारियों के मामले में.

इसके बाद भी अगर किसी दूसरे कारण से सुकन्या समृद्धि योजना खाता बंद किया जा रहा हो तो इसकी इजाजत दी जा सकती है, लेकिन उस पर ब्याज सेविंग एकाउंट के हिसाब से मिलेगा.

सुकन्या समृद्धि अकाउंट ट्रांसफर

SSY अकाउंट देशभर में कहीं भी ट्रांसफर हो सकता है, अगर खाताधारक सुकन्या समृद्धि खाता खोलने की मूल जगह से कहीं और शिफ्ट हो गया हो. SSY अकाउंट ट्रांसफर फ्री ऑफ कॉस्ट है, हालांकि इसके लिए एकाउंट होल्डर या उसके माता-पिता/अभिभावक के शिफ्ट होने का सबूत दिखाना पड़ेगा.

अगर इस तरह का कोई सबूत नहीं दिखाया गया तो सुकन्या समृद्धि अकाउंट ट्रांसफर के लिए पोस्ट ऑफिस या बैंक को 100 रुपये फीस चुकाना पड़ेगा जहां सुकन्या समृद्धि खाता खोला गया है.

जिस बैंक या पोस्ट ऑफिस में कोर बैंकिंग सिस्टम की सुविधा है, वहां सुकन्या समृद्धि अकाउंट ट्रांसफर इलेक्टॉनिक तरीके से हो सकता है.

सुकन्या समृद्धि खाते से आंशिक रकम निकासी

अकाउंट होल्डर की वित्तीय जरूरतें पूरी करने के लिए sukanya samriddhi account से आंशिक निकासी की जा सकती है, इनमें उच्च शिक्षा और शादी जैसे काम शामिल हैं. इसमें सुकन्या समृद्धि में पिछले वित्त वर्ष के अंत तक जमा रकम का 50 फीसदी निकाला जा सकता है. सुकन्या समृद्धि से यह निकासी तभी संभव है, जब एकाउंट होल्डर 18 साल की उम्र पार कर ले.

sukanya samriddhi account से रकम निकालने के लिए एक लिखित आवेदन और किसी शैक्षणिक संस्थान में एडमिशन ऑफर या फीस स्लिप की जरूरत होती है. इन मामलों में हालांकि SSY से निकासी करने वाली रकम फी और दूसरे चार्ज के बराबर ही हो सकती है उससे अधिक नहीं.

SSY एकाउंट मैच्योर कब होगा?

SSY खाता खोलने के दिन से 21 साल पूरा होने या गर्ल चाइल्ड की शादी होने के बाद एकाउंट मैच्योर हो जायेगा.

इसमें sukanya samriddhi account हालांकि कुछ शर्तें भी हैं

अगर खाताधारक की शादी खाता खोलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो जाती है तो खाते में रकम जमा नहीं कराई जा सकती.

  • अगर खाता 21 साल पूरा होने से पहले बंद कराया जा रहा है तो खाताधारक को यह एफिडेविट देना पड़ेगा कि खाता बंद करने के समय उसकी उम्र 18 साल से कम नहीं है. मैच्योरिटी के समय पासबुक और विथड्रावल स्लिप पेश करने पर खाताधारक को ब्याज सहित जमा रकम वापस हो जाएगी.
  • sbi sukanya yojana के तहत खाता सिर्फ भारतीय नागरिक का खोला जा सकता है, जो यहीं रह रहा हो और मैच्योरिटी के वक्त भी यहीं रह रहा हो. अप्रवासी भारतीय SSY में खाता नहीं खोल सकते.अगर खाता खोलने के बाद गर्ल चाइल्ड किसी और देश में चली जाती है और वहां की नागरिकता ले लेती है तो नागरिकता लेने के दिन से  sukanya yojana खाते में जमा रकम पर ब्याज मिलना बंद हो जायेगा.

Sukanya Samriddhi Yojana Calculator

https://www.bankbazaar.com/saving-schemes/sukanya-samriddhi-account-calculator.html

Source: यह सूचना वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक की वेबसाइट से जुटाई गयी है. पाठकों को समझने के लिए इसे आसान भाषा में पेश किया गया है.

Disclamer: पूरी जानकारी के लिए आप sukanya samriddhi yojana स्कीम बनाने वाली अथॉरिटी से बात कर सकते हैं. SSYकी जानकारी मौजूद नियमों के हिसाब से है, इसमें किसी बदलाव के लिए हमारी जिम्मेदारी नहीं है.

Leave a Comment