soaked methi seeds for diabetes, fenugreek diabetes side effects, fenugreek and metformin, can fenugreek seeds cure diabetes?, irani methi for diabetes,
soaked methi seeds for diabetes, fenugreek for diabetes dosage, how to eat fenugreek seeds daily, fenugreek soaked water for diabetes,
मेथी पाचन क्रिया के दौरान कार्बोहाइड्रेट्स के अवशोषण को धीमा करके रक्त शुगर के लेवल को कम करने में मदद करता है।

मेथी के बीज और मधुमेह Methi se sugar ka ilaj – मेथी एक खुशबूदार पौधा है व्यंजन और औषधीय के रूप में इसके कई उपयोग है। Fenugreek, सब्ज़ी और अन्य भारतीय व्यंजनों की एक प्रमुख घटक है। इसकी खेती दक्षिण एशिया, उत्तरी अफ्रीका और भूमध्य मे व्यापक रूप से होती है। इसके छोटे गोल पत्तियां होती है।

मेथी की फली लम्बी होती है।  और इसके बीज स्वाद में कड़वे होते है। मेथी के पत्ते या तो, एक सब्जी (ताजा पत्ते, स्प्राउट्स, और microgreens) आमतौर पर मेथी के रूप में जाना रूप में बेचा जाता है, या एक जड़ी बूटी के रूप में (सूखे पत्ते), जबकि बीज एक मसाले के रूप में या पाउडर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। खाने को स्वादिष्ट तो बनता ही है साथ ही इसके कई सारे स्वास्थ्य लाभ भी होते है। आयुर्वेदिक और पारंपरिक मधुमेह चिकित्सा(Diabetes treatment) रूप में मेथी का प्रयोग किया जाता है।

(यह भी पढ़ें: मेथी के फायदे और नुकसान)

मेथी के बीज पोषण तथ्य (Fenugreek seeds nutrition)

मेथी के बीज छोटे, कड़वा, डिकोटालेडोनस होते हैं। वे जोरदार सुगन्धित और तीखे स्वाद वाले होते हैं। परंपरागत रूप से, पाचन समस्याओं को ठीक करने और नर्सिंग माताओं में स्तनपान में सुधार करने के लिए मेथी का इस्तेमाल किया जाता है।

प्रति 100 ग्राम पोषण मूल्य (स्रोत: USDA राष्ट्रीय पोषक डेटा बेस)
विशिष्ट तत्त्वपोषक तत्व मूल्यआरडीए का प्रतिशत
Energy323 Kcal16%
Carbohydrates58.35 g45%
Protein23 g41%
Total Fat6.41 g21%
Cholesterol0 mg0%
Dietary Fiber24.6 g65%
Vitamins
Folates57 µg14%
Niacin1.640 mg7%
Pyridoxine0.600 mg46%
Riboflavin0.366 mg28%
Thiamin0.322 mg27%
Vitamin A60 IU2%
Vitamin C3 mg5%
Electrolytes
Sodium67 mg4.5%
Potassium770 mg16%
Minerals
Calcium176 mg18%
Copper1.110 mg123%
Iron33.53 mg419%
Magnesium191 mg48%
Manganese1.228 mg53%
Phosphorus296 mg42%
Selenium6.3 µg11%
Zinc2.50 mg23%

Methi मधुमेह को कैसे प्रभावित करता है?

शुगर (मधुमेह, डायबिटीज) के लक्षण
शुगर (मधुमेह, डायबिटीज) के लक्षण

मेथी के बीज (trigonella foenum graecum) घुलनशील फाइबर में उच्च होते हैं, जो कार्बोहाइड्रेट के पाचन और अवशोषण को कम करके रक्त शर्करा को कम करने में मदद करता है। इससे पता चलता है कि वे मधुमेह वाले लोगों के इलाज में प्रभावी हो सकते हैं।

Fenugreek, Diabetes के क्या फायदे है इसके लिए कई शोध किये गए है। इनमें से कई चिकित्सीय परीक्षणों से पता चला है कि मेथी के बीजों में दोनों टाइप 1 और टाइप 2 मधुमेह के साथ जुड़े सबसे चयापचयी लक्षणों में सुधार हो सकता है। जैसे रक्त ग्लूकोज के स्तर को कम करके और ग्लूकोस सहिष्णुता(glucose tolerance) में सुधार।

एक अध्ययन में, भारत में शोधकर्ताओं ने पाया कि इंसुलिन-आश्रित (type 1) मधुमेह के रोगियों के दैनिक आहार में 100 ग्राम वसा से वंचित मेथी बीज के पाउडर को जोड़ने से उनके खाली पेट के रक्त शर्करा का स्तर कम हो गया, और साथ ही ग्लूकोज सहिष्णुता में सुधार हुआ और एलडीएल या ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स(triglycerides) कुल कोलेस्ट्रॉल भी कम हो गया।

एक और नियंत्रित परीक्षण में, 15 ग्राम मेथी के बीज के पाउडर को टाइप 2 डायबिटीज़ वाले लोगों द्वारा खाए जाने पर भोजन करने के पहले रक्त में ग्लूकोज की मात्रा में कमी आती है, जबकि एक अलग अध्ययन में पाया गया कि मेथी मे 2.5 ग्राम रोजाना तीन बार कम से कम दो महीने तक लेने से टाइप 2 मधुमेह लोगों में रक्त शर्करा के स्तर में हल्की कमी आयी।

(यह भी पढ़ें: एरंड का तेल अरण्डी के तेल के फायदे Castor oil benefits  )

Methi se sugar ka ilaj
1इसके बीज विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट का एक समृद्ध स्रोत हैं, जो शरीर के कोशिकाओं को अस्थिर अणुओं के कारण होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करते हैं जिन्हें free radicals कहा जाता है।
2सदियों से वे (और अभी भी) प्रसव के बाद माताओ के द्वारा या स्तनपान कराने और गर्भावस्था के दौरान स्तनों में दूध का उत्पादन को बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाता है। अपने शक्तिशाली एंटीवायरल गुणों के कारण, सामान्य सर्दी और गले के रोगो के लिए एक हर्बल उपचार के रूप में उपयोग किया जाता है।
3इसके अलावा, शोधकर्ताओं का मानना है कि मेथी के बीज गठिया, उच्च कोलेस्ट्रॉल, त्वचा की समस्याओं (घाव,रैशेस,बाइलस), ब्रोंकाइटिस, फोड़े, बालों का झड़ना, कब्ज, पेट की परेशानी, गुर्दो की बीमारियां, हार्ट बर्न, पुरुष नपुंसकता और अन्य यौन रोग के उपचार में प्रभावी हो सकते हैं।

ध्यान रखें!

मधुमेह के इलाज के लिए इसका उपयोग करने से पहले, अपने मधुमेह डॉक्टर से सलाह लें। अन्य रक्त शर्करा-कम करने वाले जड़ी-बूटियों के साथ इसका सेवन खतरनाक भी हो सकता है क्यूंकि, Fenugreek  आपके खून में शुगर लेवल को बहुत कम कर सकता है जो (हाइपोग्लाइसीमिया) का कारण बन सकता है। यदि Methi को निर्धारित मधुमेह दवाओं के साथ लिया जाता है तो हो सकता है की, आपकी मधुमेह विरोधी दवा की खुराक को बदलना पड़े। मेथी के बीज और मधुमेह Methi se sugar ka ilaj –


For the latest food news, health tips and recipes, like us on Facebook or follow us on Twitter.

LEAVE A REPLY