जानिये कपैसिटर के बारे में।

विषय - सूची

धातु कि दो प्लेटो के बीच कोई कुचालक पदार्थ रखकर, प्लेटो में से एक-एक तार निकल दिया जाएँ तो इस तरह बने डिवाइस को केपेसीटर, कंडेनसर कहा जाता हैं।

capacitor

केपेसीटर एक बैटरी की तरह काम करता हैं। यह करंट को स्टोर करता है। जिस प्रकार टंकी में स्टोर पानी को दुबारा निकाला जा सकता हैं। ठीक उसी प्रकार केपेसीटर में स्टोर किये गये आवेशो को भी दुबारा प्राप्त किया जा सकता हैं।

  • कंडेनसर का काम विधुत ऊर्जा को एकत्रित करना व विधुत ऊर्जा को एकत्रित दुबारा प्रदान करना हैं।

  • कंडेनसर के इस प्रक्रिया को केपेसीटर कि चार्जिंग-डिसचार्जिंग प्रक्रिया कहा जाता हैं।

  • कंडेनसर के द्वारा विधुत को स्टोर करने कि क्षमता को केपेसीटर का केपेसिटेन्स कहते हैं।

  • केपेसिटेन्स को “C” अक्षर से प्रदर्शित किया जाता हैं। केपेसिटेन्स को “F” से मापा जाता हैं।

  • 1000 पीको फेराड (kF) = 1 किलो पीको फेराड(KpF)

  • 1000 किलो पीको फेराड (KpF) = 1 माइक्रो फेराड(MFD,MF,UF)

  • 10,00,000 माइक्रो फेराड(MF) = 1 फेराड (F)

केपेसीटर (संधारित्र) के प्रकार

1. फिक्स टाईप केपेसीटर (FIXED TYPE CAPACITOR)

ऐसे कंडेनसर जिनका मान घटाया या बढ़ाया नही जा सकता हैं।

2. वेरीएबल टाईप केपेसीटर(VARIABLE TYPE CAPACITOR)

ऐसे केपॅसिटर जिनका मान घटाया या बढ़ाया जा सकता हैं।

3. सेमी वेरीएबल टाईप केपेसीटर (SEMI VARIABLE TYPE CAPACITOR)

ऐसे के कंडेनसर जिनका मान उस पर अंकित मान से कुछ कम मान तक घटाया या बढ़ाया जा सकता हैं।

  • Paper condenser

  • Electrolytic condenser

  • Mica condenser

  • Ceramic condenser

  • Styroflex condenser

  • Polyester condenser

कैपसिटर का विभिन्न सर्किट में प्रयोग व् काम

कंडेनसर मुख्य काम AC को पास करना व DC को रोकना होता हैं।

  1. filtration circuit

  2. Coupling circuit

  3. Delay Timing circuit

  4. Capacitor Polority

Polority के हिसाब से कैपसिटर दो तरह के होते हैं।

  1. Polorised Capacitor (ध्रुवीकृत संधारित्र)

  2. NON Polorised Capacitor (गैर-ध्रुवीकृत संधारित्र)

ध्रुवीकृत संधारित्र

ऐसे कैपसिटर जिनमे negative और positive टर्मिनल होते हैं। Polorised Capacitor कहलाते हैं। इन कंडेनसर को circuit में लगाते समय नेगेटिव व पॉजिटिव का विशेष ध्यान रखना पड़ता हैं। यदि यह उलटे लगा दिए जाए तो यह गरम होकर फट जाते हैं।

गैर-ध्रुवीकृत संधारित्र (Non-Polorised Capacitor)

ऐसे कैपसिटर जिनमे negative और positive टर्मिनल नहीं होते हैं। Non Polorised Capacitor कहलाते हैं। इन condenser चाहे जैसे लगा सकते हैं।

आगे पढ़े →

कपैसिटर को मल्टी मीटर के द्वारा कैसे चैक करे
How to Check condenser Using Multimeter

LEAVE A REPLY