धन-सम्पत्ति और सुख-समृद्धि के लिए झाड़ू के चमत्कारी टोटके

Jhadu ke tone totke: Ma Mahalaxmi को प्रसन्न करने के लिए किसी बहुत बड़े तंत्र-मंत्र-यंत्र की जरूरत नहीं है ना ही किसी पूजा-पाठ की। मां को प्रसन्न कर मनचाहा वरदान करने के लिए आपको केवल झाड़ू से जुड़ी कुछ बातों को ध्यान रखना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार jhadu को मां महालक्ष्मी का ही रूप माना गया है। माना जाता है कि जिस घर में पूरी तरह से साफ-सफाई रहती है वहां वास्तु दोष भी खत्म होता है और positive energy घर में आती है।

Jhadu ke tone totke धन-सम्पत्ति पाने के लिए झाड़ू के चमत्कारी टोटके

  1. मां लक्ष्मी की कृपाप्राप्ति के अपने घर के आसपास के किसी मंदिर में ब्रह्म मुहूर्त (सुबह सूर्योदय के समय) में तीन झाडूओं(brooms) का गुप्त दान (बिना किसी को बताए) करें। झाडू दान करने में इन बातों का ध्यान रखें।
  2. मंदिर में झाडू दान करने के पहले शुभ मुहूर्त अवश्य देख लें। यदि उस दिन कोई शुभ योग (यथा पुष्य या रवि नक्षत्र) हो, त्यौहार (जैसे दीवाली, दशहरा आदि) हो तो इस दान की महत्ता बहुत बढ़ जाती है और घर में स्थाई लक्ष्मी का वास होता है। जिस दिन भी यह काम करना हो, उसके एक दिन पहले ही आपको 3 झाडू खरीदकर ले आना चाहिए।
  3. जब भी किसी नए घर में प्रवेश करें, उस समय नई झाड़ू लेकर ही घर के अंदर जाना चाहिए। यह शुभ शकुन माना जाता है। इससे नए घर में सुख-समृद्धि और शांति बनी रहेगी।

घर में झाडू से जुड़ी ये बातें रखें ध्यान Jhadu ke tone totke

  • झाडू (broom) को सदैव छिपा कर रखें। मेहमानों को दिखते स्थान पर झाडू रखना अपशकुन माना जाता है। परन्तु रात के समय घर के मुख्य दरवाजे के सामने झाडू रखने से घर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश नहीं कर पाती।
  • भोजन कक्ष, रसोई अथवा भंडार गृह में कभी झाडू न रखें। इससे घर के संसाधनों में कमी आती है।
  • झाड़ू(broom) को कभी भी खड़ी करके नहीं रखना चाहिए। यह अपशकुन माना गया है।
  • झाड़ू(broom) पर गलती से भी पैर नहीं रखना चाहिए। ऐसा होने पर लक्ष्मी रूठ जाती हैं। यह अपशकुन है।

 

  1. शास्त्रों कहते है, मरने से पहले इंसान में दिखाई देते हैं ये 8 लक्षण
  2. दिशाशूल विचार यात्रा, यात्रा करने से पहले इन चीजों को नहीं करना चाहिए
  3. इन चीजें को घर में रखने से कभी नहीं होती पैसों की कमी
loading...

3 COMMENTS

  1. फिटकरी का सिर्फ एक छोटा टुकड़ा, दूर करता है घर तथा ऑफिस में फैली दरिद्रता “वास्तु शास्त्र” !
    शास्त्रो में वास्तु शास्त्र की विद्या का महत्वपूर्ण स्थान दिया है, वास्तु शास्त्र एक प्राचीन वैज्ञानिक जीवन शैली है. वास्तु शास्त्र के अनुसार पांच तत्वों जल, पृथ्वी, वायु, आकाश, अग्नि तथा वास्तु के आठ कोण व दिशाए एवम ब्रह्म स्थल केंद्र को सन्तुलित करना अति आवश्यक होता है.

    यदि कोई व्यक्ति वास्तु के अनुसार अपने घर का निर्माण करता है तो उस घर में रहते हुए उसे किसी भी प्रकार के संकट का सामना नहीं करना पड़ता तथा नकरात्मक ऊर्जा उस घर में घुस नहीं सकती. यही नहीं वास्तु शास्त्र के द्वारा अनेक समस्याएं भी ठीक करी जा सकती है चाहे वो शारीरिक हो अथवा मानसिक.

    अधिकतर लोग बगेर वास्तु सलाह के घर अथवा ऑफिस इत्यादि का निर्माण करते है तथा बाद में उन्हें अनेक प्रकार के वास्तु दोषो से होकर गुजरना पड़ता है, जैसे घर में अक्सर किसी की व्यक्ति का अधिकतर बीमार रहना, धन का अभाव होना, व्यापार का मन्दा जाना अथवा घर में क्लेश आदि का बना रहना आदि.

    आज हम आपके लिए वास्तु शास्त्र से जुड़ा एक अत्यंत प्रभावकारी उपाय बताने जा रहे है जो आपके घर अथवा ऑफिस के सभी वास्तु दोष को दूर कर देगा.

    यदि आपने वास्तु अनुसार घर अथवा ऑफिस का निर्माण न किया हो तथा आपको वास्तु दोषो का समाना करना पड़ रहा हो तो इस छोटे से एवम सरल उपाय द्वारा आप वास्तु दोष से मुक्ति प्राप्त कर सकते है. …
    read more…..
    फिटकरी का सिर्फ एक छोटा टुकड़ा, दूर करता है घर तथा ऑफिस में फैली दरिद्रता “वास्तु शास्त्र” !

LEAVE A REPLY