मखाने कैसे बनते हैं, मखाने के फायदे इन हिंदी, मखाने की तासीर, मखाने खाने का तरीका, मखाना कैसे बनता है, मखाने की खेती, मखाने के नुकसान, मखाने की सब्जी,

मखाना पोषक तत्वों से भरपूर एक जलीय उत्पाद है। मखाना स्‍वास्‍थ्‍य के लिये भी काफी फायदेमंद है। मखाने के बीज किडनी और हृदय के लिये लाभप्रद हैं। मखाने में 9.7 प्रतिशत आसानी से पचनेवाला प्रोटीन, 76 प्रतिशत कार्बोहाईड्रेट, 12.8 प्रतिशत नमी, 0.1 प्रतिशत फैट, 0.5 प्रतिशत मिनरल लवण, 0.9 प्रतिशत फॉस्फोरस एवं 1.4 मिलीग्राम आयरन पदार्थ मौजूद होता है। इसमें औषधीय गुण भी होते है। साथ ही मखाने में कैल्शियम, अम्‍ल और विटामिन बी भी पाया जाता है।

  • यह शीघ्रपतन से बचाता है
  • वीर्य की गुणवत्ता और मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है
  • जिससे कामेच्छा बढ़ जाती है।
  • इसके अलावा यह महिलाओं में बांझपन को भी दूर करने में मदद करता है।

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद

डायबिटीज चयापचय विकार है, जो उच्च रक्त शर्करा के स्तर के साथ होता है। इससे इंसुलिन हार्मोंन का स्राव करने वाले अग्न्याशय के कार्य में बाधा उत्‍पन्‍न होती है। लेकिन मखाने मीठा और खट्टा बीज होता है। और इसके बीज में स्‍टार्च और प्रोटीन होने के कारण यह डायबिटीज के लिए बहुत अच्‍छा होता है।

बढ़ती उम्र को रोकता है: एंटी-एजिंग गुण

मखाने में बढ़ती उम्र के प्रभाव को रोकने की क्षमता होती है। मखाना एंटी-एजिंग के साथ एंटी-आक्सीडेट से भी भरपूर होता हैं जो उम्र को रोकने में सहायता करता है। जिस वजह से आप लंबे समय तक जवां बने रहते हो। झुर्रियां और बालों का सफेद होना भी मखाने से कम हो जाते हैं।

किडनी को मजबूत बनाये

मखाने का सेवल किडनी और दिल की सेहत के लिए फायदेमंद है। फूल मखाने में मीठा बहुत कम होने के कारण यह स्प्लीन को डिटॉक्‍सीफाइ करने, किडनी को मजबूत बनाने और ब्‍लड का पोषण करने में मदद करता है। साथ ही मखानों का नियमित सेवन करने से शरीर की कमजोरी दूर होती है और हमारा शरीर सेहतमंद रहता है।

दिल की बीमारी में मखाना : मखाने में एस्ट्रीजन गुण होते हैं जो आपको दिल के रोगों से बचाता है। मखाना दिल की सेहत के लिए किसी औषधि से कम नहीं है।

दर्द से छुटकारा दिलाये : मखाना कैल्शियम से भरपूर होता है इसलिए जोड़ों के दर्द, विशेषकर अर्थराइटिस के मरीजों के लिए इसका सेवन काफी फायदेमंद होता है। साथ ही इसके सेवन से शरीर के किसी भी अंग में हो रहे दर्द जैसे से कमर दर्द और घुटने में हो रहे दर्द से आसानी से राहत मिलती है।

पाचन में सुधार करे : मखाना एक एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण, सभी आयु वर्ग के लोगों द्वारा आसानी से पच जाता है। बच्‍चों से लेकर बूढे लोग भी इसे आसानी से पचा लेते हैं। इसका पाचन आसान है इसलिए इसे सुपाच्य कह सकते हैं। इसके अलावा फूल मखाने में एस्‍ट्रीजन गुण भी होते हैं जिससे यह दस्त से राहत देता है और भूख में सुधार करने के लिए मदद करता है। मखानों को देसी घी में भूनकर खाने से दस्त जैसे रोग से छुटकारा पाया जा सकता है।

अन्‍य लाभ

  1. मखाने के सेवन से तनाव कम होता है और नींद अच्छी आती है।
  2. रात में सोते समय दूध के साथ मखाने का सेवन करने से नींद न आने की समस्या दूर हो जाती है।
  3. इसके अलावा मखानों का नियमित सेवन करने से शरीर की कमजोरी दूर होती है और हमारा शरीर सेहतमंद रहता है।
  4. मखाने में मौजूद प्रोटीन के कारण यह मसल्स बनाने और फिट रखने में मदद करता है।

अन्‍य –

LEAVE A REPLY