Amazing Facts about Kinnar (Hijra) in Hindi: किन्नर समुदाय समाज से अलग ही रहता है और इसी कारण आम लोगों में उनके जीवन और रहन-सहन को जानने की जिज्ञासा बनी रहती है। किन्नरों का वर्णन ग्रंथों में भी मिलता है। यहां जानिए किन्नर समुदाय से जुड़ी कुछ खास बातें… Facts about Kinnar-Hijra in Hindi

Amazing Facts about Kinnar (Hijra) in Hindi

1. ज्योतिष के अनुसार वीर्य की अधिकता से पुरुष (पुत्र) उतपन्न होता है। रक्त (रज) की अधिकता से स्त्री (कन्या) उतपन्न होती है। वीर्य और राज़ समान हो तो किन्नर संतान उतपन्न होती है। According to astrology plethora of semen male (son) is arising. The woman is the arising a plurality of blood. Shemale arising progeny semen and blood are so similar.

2. महाभारत में जब पांडव एक वर्ष का अज्ञात वास काट रहे थे, तब अर्जुन एक वर्ष तक किन्नर वृहन्नला बनकर रहा था। In the Mahabharata, the Pandavas were cut anonymity of the year.Then, one year Arjuna was as a Vrihnnla Shemale.

3. पुराने समय में भी किन्नर राजा-महाराजाओं के यहां नाचना-गाना करके अपनी जीविका चलाते थे। महाभारत में वृहन्नला (अर्जुन) ने उत्तरा को नृत्य और गायन की शिक्षा दी थी। In ancient times, kings and princes of the Shemale here, singing, and used to earn. In the Mahabharata, Vrihnnla (Arjuna) Uttara taught dance and singing.

4. किन्नर की दुआएं किसी भी व्यक्ति के बुरे समय को दूर कर सकती हैं। धन लाभ चाहते है तो किसी किन्नर से एक सिक्का लेकर पर्स में रखे। Shemale’s devotions, any person can be bad timing. If want to gain money a shemale put a coin in the purse.

5. एक मान्यता है कि ब्रह्माजी की छाया से किन्नरों की उत्पत्ति हुई है। दूसरी मान्यता यह है कि अरिष्टा और कश्यप ऋषि से किन्नरों की उतपत्ति हुई है। A recognition that, in the shadow of Brahma, the origin of eunuchs. The second assumption is that, Arishta and sage Kashyap the harvest has been eunuchs.

6. पुरानी मान्यताओं के अनुसार शिखंडी को किन्नर ही माना गया है। शिखंडी की वजह से ही अर्जुन ने भीष्म को युद्ध में हरा दिया था। According to old beliefs, the Shikhandi, which had been Shemale. Because of Shikhandi, Arjun Bhishma was defeated in the war.

7. यदि कुंडली में बुध गृह कमजोर हो तो किसी किन्नर को हरे रंग की चूड़ियां व साडी दान करनी चाहिए। इससे लाभ होता है। Mercury in your birth chart so weak to a Shemale green bangles and saris should donate. It’s profitable.

8. किसी नए वयक्ति को किन्नर समाज में शामिल करने के भी नियम है। इसके लिए कई रीती-रिवाज़ है, जिनका पालन किया जाता है। नए किन्नर को शामिल करने से पहले नाच-गाना और सामूहिक भोज होता है। To a new person the rule to include Shemale society. Why treat the many customs that are followed. By including the new Shemale singing and dancing before the communion meal.

9. फिलहाल देश में किन्नरों की चार देवियां हैं। At present, four of the nymphs are eunuchs.

10. कुंडली में बुध, शनि, शुक्र और केतु के अशुभ योगों से व्यक्ति किन्नर या नपुंसक हो सकता है। “Horoscope Mercury, Saturn, Venus and Ketu unlucky individual formulations may Trans or impotent.”

11. किसी किन्नर की मृत्यु के बाद उसका अंतिम संस्कार बहुत ही गुप्त तरीके से किया जाता है। After the death of a Shemale Her funeral is very secret manner.

12. किन्नरों की जब मौत होती है तो उसे किसी गैर किन्नर को नहीं दिखाया जाता। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से मरने वाला अगले जन्म में भी किन्नर ही पैदा होगा। किन्नर मुर्दे को जलाते नहीं बल्कि दफनाते हैं. If death occurs when the eunuchs, it will not show any non-Shemale. It is believed that by doing so die Shemale will arise in the next life. Shemale dead are buried and not cremated.

13. हिंजड़ों की शव यात्राएं रात्रि को निकाली जाती है। शव यात्रा को उठाने से पूर्व जूतों-चप्पलों से पीटा जाता है।किन्नर के मरने उपरांत पूरा हिंजड़ा समुदाय एक सप्ताह तक भूखा रहता है। The bodies of Hinjdon night trips, is extruded. Before lifting the funeral, foot wear are beaten. After the death of Shemale complete eunuch community is hungry for a week.

14. किन्नर समुदाय में गुरू शिष्य जैसे प्राचीन परम्परा आज भी यथावत बनी हुई है। किन्नर समुदाय के सदस्य स्वयं को मंगल मुखी कहते है क्योंकि ये सिर्फ मांगलिक कार्यो में ही हिस्सा लेते हैं मातम में नहीं । Shemale community, disciple of Guru, the ancient tradition still remains unchanged. Shemale community members call themselves Mangal Mukhi, they just engage in auspicious activities, not weeds.

15. किन्नर समाज कि सबसे बड़ी विशेषता है मरने के बाद यह मातम नहीं मनाते हैं। किन्नर समाज में मान्यता है कि मरने के बाद इस नर्क रूपी जीवन से छुटकारा मिल जाता है। इसीलिए मरने के बाद हम खुशी मानते हैं । ये लोग स्वंय के पैसो से कई दान कार्य भी करवाते है ताकि पुन: उन्हें इस रूप में पैदा ना होना पड़े। Shemale society, the biggest feature that weeds do not celebrate the liturgy. Shemale society recognizes that, to get rid of life after death is the form of hell. Thus the liturgy, we believe happiness. Many of these people own the money to charity work is also required to achieve re-create them as you have to be right.

16. देश में हर साल किन्नरों की संख्या में 40-50 हजार की वृद्धि होती है। देशभर के तमाम किन्नरों में से 90 फीसद ऐसे होते हैं जिन्हें बनाया जाता है। समय के साथ किन्नर बिरादरी में वो लोग भी शामिल होते चले गए जो जनाना भाव रखते हैं। Every year the number of eunuchs in the country has increased by 40-50 thousand. 90 per cent of the country are such that all transgenders are built. Shemale community over time they moved, which includes expressions are effeminate.

17. किन्नरों की दुनिया का एक खौफनाक सच यह भी है कि यह समाज ऐसे लड़कों की तलाश में रहता है जो खूबसूरत हो, जिसकी चाल-ढाल थोड़ी कोमल हो और जो ऊंचा उठने के ख्वाब देखता हो। यह समुदाय उससे नजदीकी बढ़ाता है और फिर समय आते ही उसे बधिया कर दिया जाता है। बधिया, यानी उसके शरीर के हिस्से के उस अंग को काट देना, जिसके बाद वह कभी लड़का नहीं रहता। It is true that a creepy world of eunuchs, the society is looking for the boys who are pretty high up the gait of a tender and be dreaming about something. It enhances the community close to him and then, when it arrives, is neat. Neat, ie that part of his body parts cut off, after which he never ceases to be a boy.

18. अब देश में मौजूद पचास लाख से भी ज्यादा किन्नरों को तीसरे दर्जे में शामिल कर लिया गया है। अपने इस हक के लिए किन्नर बिरादरी वर्षों से लड़ाई लड़ रही थी। 1871 से पहले तक भारत में किन्नरों को ट्रांसजेंडर का अधिकार मिला हुआ था। मगर 1871 में अंग्रेजों ने किन्नरों को क्रिमिनल ट्राइब्स यानी जरायमपेशा जनजाति की श्रेणी में डाल दिया था। बाद में आजाद हिंदुस्तान का जब नया संविधान बना तो 1951 में किन्नरों को क्रिमिनल ट्राइब्स से निकाल दिया गया। मगर उन्हें उनका हक तब भी नहीं मिला था। Now, more than five million eunuchs in the country has been included in the third class. Trans community for years for this right was fighting. Till 1871, India had won the right to transgender and eunuchs. But in 1871 the British Criminal Tribes eunuchs was put into the category of criminal tribe. After independence of India in 1951 when a new constitution was removed from the Criminal Tribes eunuchs. But he had not yet had their share.

19. आमतौर पर सिंहस्थ में 13 अखाड़े शामिल होते हैं, लेकिन इस बार एक नया अखाड़ा और बना है। ये अखाड़ा है किन्नर अखाड़ा। किन्नर अखाड़े को लेकर समय-समय पर विवाद होते रहे हैं। इस अखाड़े का मुख्य उद्देश्य किन्नरों को भी समाज में समानता का अधिकार दिलवाना है। Kumbha usually contains 13 arena, but this time a new arena and so on. The amphitheater Arena is Shemale. Shemale arena there are the occasional dispute. The main objective of this arena is getting eunuchs in the society is the right to equality.

20. किन्नर अपने आराध्य देव अरावन से साल में एक बार विवाह करते है। हालांकि यह विवाह मात्र एक दिन के लिए होता है। अगले दिन अरावन देवता की मौत के साथ ही उनका वैवाहिक जीवन खत्म हो जाता है। अब सवाल यह उठता है की अरावन है कौन, किन्नर उनसे क्यों शादी रचाते है और यह शादी मात्र एक दिन के लिए ही क्यों होती है ? इन सभी प्रशनो का उत्तर जानने के लिए हमे महाभारत काल में जाना पड़ेगा। आप सम्पूर्ण कहानी यहाँ पढ़ सकते है – Shemale Aravn your deity of marriage is once a year. However, this marriage is only for a day. With the death of the god Aravn next day, their marriage is over. The question of who is Aravn, Shemale Rchate why marriage and married him just for a day, why does this occur? To find answers to these questions we will have to Mahabharata.

 

loading...
SHARE

LEAVE A REPLY