बालों में मेहंदी करें तो कैसे So how do henna hair

आज का खानपान और वातावरण ऐसा हो चुका है कि पंद्रह-पंद्रह साल की युवतियों यहां तक कि छोटे-छोटे बच्चों के बाल भी सफेद होने लगे है, भारतीय लोगो के बाल लाल, पीले या जामुनी रंग के हो ऐसा स्वीकार्य नहीं होता, हर कोई चाहता है कि उसके बाल काले रहें, इसलिए बहुत से लोग हेयर कलर, हेयर डाई, हिना या मेंहदी का प्रयोग करते है,

लाभ

मेंहदी एक ऐसा उपाय है जो बालों को सफेदी से छुटकारा दिलाता है, पर मेंहदी लगाने से लोगों की एक समस्या उत्पन्न होती है वह यह कि इससे सफेद बाल आॅरेंज दिखने लगते है इसलिए आजकल मेंहदी में आंवला, शिकाकाई आदि जडी बूटियों को पीस कर मिलाया जाता है जिससे बाल काले दिखए देते है। मेंहदी का अन्य लाभ यह है कि इससे बालों को मजबूत मितली है, इससे बालों के टूटने या दो मुंहे होने की आशंका नहीं रहती है।

कुछ भ्रम

जहां लाभ होते हैं वहीं भ्रम की स्थिति भी होती है, बहुत सी महिलाओं का मूल रंग वापस नहीं आता, दूसरे सर्दियो में मेंहदी नहीं लगानी चाहिए क्योकि इससे ठंड चंड जाती है, इसके अतिरिक्त मेंहदी बालों को रूखा बना देती है।

यह सब भ्रम निराधार है क्योंकि अगर मेंहदी से बाल रंगने का आपका तरीका सही है तो मेंहदी से कभी काई समस्या नही होती है, इसलिए कुछ बातो पर ध्यान दें।

  1. मेंहदी लगाने से पहले पैकेट पर लिखे कन्टेंट को पढ लें,
  2. मेंहदी लगाने से दो घंटे पूर्व सिर पर तेल की मालिश कर लें, तेल लगाने के डेढ घंटे के बाद ही मेंहदी लगाएं, मेंहदी कभी बालों को रूखा नहीं करती है।
  3. मेंहदी में अगर जडी बूटियों का मिश्रण नहीं है तो इसे आंवला व शिकाकाई के पानी में भिगोएं, इससे बाल काले होगें।
  4. मेंहदी लगाने के बाद बालों को शावर कैप से ढकें, इससे बाल स्वभाविक रूप से सूखेंगे, जब बाल हवा के कारण तेजी से सूखते है तो वह बालों में खिंचाव पैदा करते है। जिस कारण बालों की जडो को नुकसान होती है, आप यह भी महसूस करेंगें कि मेंहदी ठंडक नहीं देती बल्कि गर्मी का एहसास देती है।
  5. मेंहदी कम से कम घंटे तक रहने दें।
  6. बालों को धोने के लिए गुनगना पानी प्रयोग करें और बालों को मुलायम हाथों से मलें।
  7. मेंहदी के तुरंत बाद शैंपू प्रयोग करें, कम से कम दो दिन बाद शैंपू प्रयोग करें।
loading...
SHARE

LEAVE A REPLY